Header Ads

धारा 370 को खत्म किया जाये तो बहुत अच्छा अवसर आ गया है


भारतवासियो आप अगर चाहते है कि धारा 370 को खत्म किया जाये तो बहुत अच्छा अवसर आ गया है ।पांच राज्यो में विधान सभा का चुनाव होने जा रहा है ।यही एक मौका है इसको खत्म करने का और कैसे खत्म होगा आप जरा ध्यान से पढ़े ।
लोकसभा में मोदी जी की सरकार है और राज्यसभा में बहुमत नहीं है । राज्यसभा में देश बिरोधी तागतो का बहुमत है ।जो की धारा 370 का बिल पास नहीं होने देते है ।
मोदी जी की सरकार को आप सभी मिलकर पाँच राज्यो में जीत दिला देते है तो ।कश्मीर में 370 की धारा को खत्म किया जायेगा ।
लोकसभा से बिल पास हो जाता है और राज्यसभा में रुक जाता है जब तक दोनों सदनों से बिल पास नहीं होगा ।तब तक धारा 370 को खत्म नहीं किया जा सकता है । इसलिये राज्यसभा में बहुमत के लिये मोदी सरकार को आप सभी के सहयोग की जरुरत है। आप चाहे तो राज्यसभा में बहुमत मिल सकती है। बस केवल एक बार सभी भारतवासी मिलकर राज्यसभा में पहुचाने के लिए पाचो राज्य में बीजेपी को पूर्ण बहुमत चाहिये । उसके उपरांत कश्मीर से धारा 370 को खत्म किया जा सकता है ।
मोदी सरकार को आप सभी के सहयोग की जरुरत है मित्रो देशहित के लिये । देशहित में आप सभी लोग मिलकर सम्मान के साथ जियें । जय हिन्द।
कश्मीर का हाल कैसे बना उसकी जड़ क्या है खुद पढ़े मित्रो और देश प्रमिओ को भी बताये ।
धारा ३७० भारतीय संविधान का एक विशेष अनुच्छेद (धारा) है जिसके द्वारा जम्मू एवं कश्मीर राज्य को सम्पूर्ण भारत में अन्य राज्यों के मुकाबले विशेष अधिकार अथवा (विशेष दर्ज़ा) प्राप्त है। देश को आज़ादी मिलने के बाद से लेकर अब तक यह धारा भारतीय राजनीति में बहुत विवादित रही है। भारतीय जनता पार्टी एवं कई राष्ट्रवादी दल इसे जम्मू एवं कश्मीर में व्याप्त अलगाववाद के लिये जिम्मेदार मानते हैं तथा इसे समाप्त करने की माँग करते रहे हैं। भारतीय संविधान में अस्थायी, संक्रमणकालीन और विशेष उपबन्ध सम्बन्धी भाग २१ का अनुच्छेद ३७० जवाहरलाल नेहरू के विशेष हस्तक्षेप से तैयार किया गया था। स्वतन्त्र भारत के लिये कश्मीर का मुद्दा आज तक समस्या बना हुआ है।

No comments