Header Ads

पड़े लिखे हिन्दू ज्ञानियों के लिए एक नम्र निवेदन


पड़े लिखे हिन्दू लिटरेट ज्ञानियों के लिए एक नम्र निवेदन ---
हिन्दु क्यों दुर हो रहा है अपने धर्म से ? हिन्दु को राम राम कहने में क्यों आती है शर्म ?
हिन्दु तिलक लगाने में क्यों हिचकता है ?
हिन्दु मंदिर जाने में क्यों शरमाता है ?
कारण एक ही है.........
आप फिल्में तो देखते ही हैं उसमें आपने देखा होगा की फिल्म में जो नमस्ते करता है , राम राम कहता है , भगवान का नाम लेकर बात करता है , बात करते करते हे! राम बोलता है , उस
पर सब हंसते हैं , उसकी हंसी उड़ाते हैं , उसे गांव वाला कहा जाता है..
कुछ दृश्यो में दिखाया जाता है कि लड़कियां उन लड़को को बिलकुल भाव नहीं दे रही जिनके गले में रुद्राक्ष
की माला है , तिलक लगा रखा है , भगवान का नाम ले रहा है , मंदीर जा रहा है..
क्या किसी फिल्म में किसी दुसरे धर्म को मानने पर उसे इस तरह गांव वाला दिखाया गया हो जरा याद
किजिए..
नहीं याद आ रहा ना , आयेगा भी नहीं क्योंकी एसा किसी फिल्म में दिखाया ही नहीं गया है..
चलिए और गोर से समझ लेते हैं आप किसी हिन्दु के छोटे बच्चे को राम राम बोलो वो आपको बदले में क्या जवाब देगा..
फिर एक दुसरे धर्म के बच्चे को उसके धर्म के अनुसार कहिये वो आपको क्या जवाब देता है..
आप खुद समझ जायेंगे की हमारी आने वाली पिढ़ी कहा जा रही है..
एक और उदाहरण.......
अब अपने आफिस में किसी हिन्दु को राम राम बोलो..
आप भी जानते हैं सब हंसने लगेंगे आपको हाय हलो कहने को कहेंगे..
अब अगर कोई गलती हो जाये तो हे! राम बोलिये
सब फिर हंसेंगे पर ओह गॉड बोलिये कोई नहीं हंसेगा..
अब अगर आपके फ्रेंड्स में कोई मुस्लिम हो तो उसे अस-सलाम-वालेकुम बोलिए चाहे वो कितना भी पढ़ा लिखा हो वो हंसेगा नहीं आपको वालेकुम-अस-सलाम जरुर बोलेगा..
और आपके अंदर हिम्मत हो तो उस पर हंस कर बताइये..पर हिन्दु को राम राम बोलो वो चार दिन
तक आपकी हंसी उड़ायेगा..
ये सब हिन्दुओं के दिमाग में किसने भरा की राम राम बोलने वाला गांव वाला और हाय हैलो बोलने वाला पढ़ा लिखा और हाई-फाई..
जवाब है .......
फिल्मों ने....ये एक षडयंत्र है हिन्दुओं के खिलाफ ताकी हिन्दु दुर हो जाये अपने धर्म से.. जरा सोचिये हिन्दुस्तान में लगभग 75 करोड़ हिन्दु है ये फिल्में अपनी कमाई का 70% हमसे ही कमाते हैं और हमारे ही धर्म की कब्र
खोद रहे हैं. हाय हाय नहीं राम राम बोलो क्योंकी हाय हाय तो हिजड़े भी बोलते
हैं..
अब एक किस्सा सुनो..
पिछले संडे को मैने सोचा सबको राम राम बोल के देखुं तो संडे को घुमने का मुड़ था सब दोस्त एक मॉल के बाहर मिले कुछ लड़कियां भी थी.. तो वहां मैने सोचा चलो सबको राम राम बोलता हुं और सबके सामने जाते ही कहा राम राम दोस्तो..
जैसा की होना था साले पेट पकड़-पकड़ कर हंसने लगे..
मैं भी कमर कस के गया था मैने वहां मेरे एक दोस्त इमरान को बुला लिया था थोडी देर बाद जब वो आया तो मैने उसे अस-सलाम-वालेकुम कहा उसने तुरंत वालेकुम-अस-सलाम कहा..
सबकी शकल देखने लायक थी..
मैं बोला दम हो तो अब हंस के दिखाओ..
आप भी समझ गये होंगे.. की हमें क्या करना है..
फिर भी याद रखने के लिए
अपने घर में छोटे बच्चो को राम राम कहिये. उनसे भी जवाब में राम राम कहने की आदत डालिए. उन्हे रोज़ मंदिर घुमाने लेकर जाइए.
हिन्दु देवी देवताओं की कहानी सुनाये. महाराणा प्रताप , शिवाजी राव जैसे
वीरो की कहानी सुनाये ना की अकबर बीरबल और
सिकंदरो की. उन्हे तिलक लगाने की आदत डालें.
गायत्री मंत्र , हनुमान चालीसा , व महामृत्युन्जय मंत्र याद करायें.
गलती होने पर हे!राम बोलने की आदत
डालें बजाय ओह गॉड के.
मुसीबत आये तो "हे! हनुमान रक्षा करो" बोले ...बजाय की "ओह गॉड सेव मी" कहकर ...... ये सारी बातें आप भी अपनाये व अमल में लायें.
हिन्दु संस्कृति बचेगी ,
तब ही हिन्दु बचेगा ........
जय श्री राम ईच्छा है तो इस मैसेज को शेयर करके आगे बढाऔ .....आपकी जय हो ...जय हिन्द .....
जय माँ भारती...

No comments